• Yeh Purohit
आदिकाल में मानव प्राक्रतिक आपदाओँ से प्रताड़ित था और उस के पास इन आपदाओं से बचने के उपाए नहीं थे. तभी इस पुरोहित वर्ग ने इन आपदाओं को दैत्य चमत्कार या शाप दे कर जनता को डरा कर उस से छुटकारा दिलाने का मिथ्या ढोंग रचा. और यह पुरोहित वर्ग अविवेकशील आम जनता पर इतना प्रभावी हो गया कि उस का जन्ममरण और जीवन भी इसी पुरोहित वर्ग के चक्रव्यूह में फंस कर रह गया. भारतीय आदालतों ने इस तरह के कार्य करने वालों के लिए कठोर आदेश भी दिए हैं. लेकिन जैसेजैसे विज्ञान के इन चमत्कारों और दैवीय शक्ति की पोल खुली तो इन आविष्कारकों को पुरोहित के षड्यंत्रों में फंस कर इन की प्रताड़नाओं को भी झेलना पड़ा. क्या इस २१ वीं सदी में हम भारतीय इन पुरोहितों के जाल में नहीं फंसे हुए हैं? इसलिए हम ऐसे लेखों की श्रृंखला प्रस्तुत कर रहे हैं, जो इस वर्ग की वास्तविकता से परिचित करा कर आप के और आप के परिवार के डरों का निवारण कर के सहज व सफल निर्वाह में मदद करेंगे।
Author's Name Rakesh Nath
Binding Paper Back
Language Hindi
Pages 148
Product Code: 1884
ISBN: 9789350653609
Availability: In Stock
All disputes are subject to Delhi Courts Jurisdiction only.

Write a review

Note: HTML is not translated!
    Bad           Good

Yeh Purohit

  • Brand: Vishv Books
  • Product Code: 1884
  • ISBN: 9789350653609
  • Availability: In Stock
  • INR150.00
  • INR120.00